कुम्भ में शराब व तम्बाकू छुड़वाने के सन्देश वाले एक लाख कप बांटे गए

कुम्भ में शराब व तम्बाकू छुड़वाने के सन्देश वाले एक लाख कप बांटे गए

शरद

कुम्भनगरी (प्रयागराज), 19 फरवरी (हि.स.)। कुम्भ मेला 2019 में विभिन्न सेक्टरों के भीतर बने रेस्टूरेंट व चाय की दुकानों पर कल्पवासियों और श्रद्धालुओं ने एक विशेष कप में पेय पदार्थ ग्रहण किया है। इस कप पर शराब व तम्बाकू छुड़वाने के लिए लिखे संदेश की चर्चा पूरे कुम्भ क्षेत्र में होती रही। इसको बांटने वाली समिति के सदस्यों ने अभी तक एक लाख 30 हजार कप को बांटा है।

चंडीगढ़ से कुम्भ क्षेत्र में आए ‘शुभकरण’ समिति के सदस्यों ने मेला में आने वाले लोगों से तम्बाकू और शराब छोड़ने की अपील की। इसके लिए सदस्यों ने सबसे पहले भीड़ के इलाको में सीधा सम्पर्क किया। फिर मीना बाजार में एक दुकान किराए पर ली और वहां स्टॉल लगाकर मेला क्षेत्र की दुकानों में सम्पर्क किया। दुकानदारों से मिलकर उनको कप बांटना शुरू किया। इस विशेष कप पर स्लोगन लिखा है। कप को पकड़ कर पेय पदार्थ पीने वाले व्यक्ति को अपने आप ही समिति का संदेश दिख जाता है और उसे लोग पढ़ते हैं।

शुभकरण समिति के सदस्यों जमुना प्रसाद, सतयंत सिंह, रत्नेश पाठक, सुशील पाण्डेय बताते हैं कि कुम्भ मेला क्षेत्र में वे जब से आए हैं, लगातार नशा के विरुद्ध अभियान छेड़े हुए है। उनकी समिति तम्बाकू का सेवन करने वाले लोगों को नशा से दूर करने में लगी रहती है। इसी तरह शराब छोड़ने के लिए तैयार लोगों को नशा से दूर करने का प्रयास करती है। उन्होंने बताया कि स्नान के प्रमुख तिथियों पर उनकी समिति के 10 सदस्यों की टोली भोजन वितरण का स्टॉल लगाती है। स्टॉल पर नशा के खिलाफ स्लोगन लिखे होते हैं। इससे वह अपना संदेश लाखों लोगों तक पहुंचाने में सफल होते हैं। इस कार्य को वह सेवा कार्य समझ कर करते है।

कुम्भ क्षेत्र में सेक्टर दो में बने मीना बाजार के एक रेस्टूरेंट के संचालक मनीष बताते हैं कि उनसे समिति के लोग मिलें और उनको कप दिया। कप में वह चाय, कॉफी और शीतल पेय पदार्थ देते हैं। कप पर लिखा संदेश पसंद आने पर ही वह इसको लेने को तैयार हुए। इस पर लिखा संदेश वास्तव में समाज में जागृति फैलाने वाला है।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

FORGOT PASSWORD ?
Lost your password? Please enter your username or email address. You will receive a link to create a new password via email.
We do not share your personal details with anyone.